Courses

इस दुनिया में कोई ऐसा मुक़ाम या मंज़िल ऐसी नहीं है जो इंसान की पहुँच से दूर हो। बिल गेट्स, स्टीव जॉव, माइकल जैक्सन, सचिन तेंदुलकर, नेल्सन मंडेला आदि जितने भी सफ़ल और इतिहास बदलने वाले लोग इस दुनियाँ में हुए है, क्या आप जानते है कि इन सभी लोगो की सफ़लता का राज़ क्या है? ये सभी अलग-अलग जगहों से आकर अलग-अलग क्षेत्र में सफ़लता के नए शीर्ष स्थापित करने वाले लोग है। लेकिन इन सभी की सफ़लता के पीछे एक ही कारण रहा है, और वो ये है कि इन सभी व्यक्तियों ने कभी ये नहीं सोचा कि “मैं ये काम नहीं कर सकता।” बल्कि इन्होंने अपने मन मे ये सोच लिया था कि “इसे सिर्फ़ मैं ही कर सकता हूँ। “और “मेरा इस दुनियाँ में जन्म ही इस काम को करने के लिए हुआ है।” इनके इसी विश्वास ने इन्हें दुनियाँ के सबसे सफ़ल व्यक्तियों में से एक बना दिया और इन्होंने इसी सोच और ताकत के दम पर पूरी दुनियाँ में एक बार फिर से इस सच को साबित कर दिया कि इंसान जो भी चाहे कर सकता है, बस जरूरत है एक दृढ़ सोच की और कभी ना टूटने वाले हौसलें की।

तो दोस्तों अगर आपने भी कुछ मुक़ाम या लक्ष्य अपनी ज़िंदगी के लिए बनाया है तो बिना कुछ सोचे-समझे, बिना किसी की सुने उस लक्ष्य को, उस मुक़ाम को हासिल करने के लिए पूरी शिद्दत से जुट जाइये और अपने मन मे ये निश्चय कर लीजिए कि जब तक मैं इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर लेता तब तक मैं किसी के रोकने से भी नहीं रुकूँगा।